आनन्दधारा आध्यात्मिक मंच एवं वार्षिक पत्रिका

सर्वे भवन्तु सुखिन: सर्वे सन्तु निरामया:, सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद्द:खभाग्भवेत्

Baglamukhi Jayanti

Maa Peetambara

Maa Peetambara

आनन्दधारा मंच वैशाख शुक्लपक्ष चतुर्थी से लेकर वैशाख शुक्लपक्ष अष्टमी तक यह पावन जयंती मनाती है! माँ के आविर्भाव दिवस की शुभता तीन दिन पहले से ही प्रकट होने लगती है!

Advertisements

Comments are closed.